द्वारा

दबदबा देसी मोबईल कम्पनियों का

   आज से पांच साल पहेले जब मोबाईल भारत में अपने सुरुँती दौर में था तब सिर्फ पाच मोबाईल कम्पनियाँ ही बाज़ार में थीं | आज इनकी संख्या चलीस के पार पहुच गयी है | सबसे ख़ास बात यह है की इन कंपनियों में से तीस हमारी देसी कम्पनियाँ हैं |
आज बाज़ार में कार्बन, लावा, मैक्रोमक्स, आइबाल, ओनिडा, लेमन, स्पाइस, जेन, मैक्स आदि कई कम्पनियां मौजूद हैं | जो पूरे देश को अपना उत्पाद उपलब्ध करा रही हैं | ये देशी कम्पनियां तो चीन से ही सस्ते दामो में उत्पाद बनबाकर ला रही हैं और आक्रामक प्रचार प्रसार कर अपने उत्पाद को लोकप्रिय बना रही हैं | अपने उत्पाद के प्रचार के लिए ये क्रिकेट और फ़िल्मी सितारों का भी सहारा ले रही हैं |
मैक्रोमैक्स ने हाल फिलहाल में आइफा पुरस्कार समारोह कराकर अपना स्थान अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भी दर्ज करा लिया | सार समूह की बेन टेलीकॉम सैफ अली और बिपाशा को अपना ब्रांड ऐम्बेसेडर बनया है वहीँ स्पीचे ने सोनम कपूर को | मैक्रोमैक्स ने अपना उत्पाद लोकप्रिय बनाने के लिए अक्षय कुमार का सहारा लिया है | मैक्स ने इसके लिए महेंद्र सिंह धोनी की लोकप्रियता को भुनाया है |
आज हालात यह है कि देसी कम्पनियों का मोबाईल हैण्डसैट बाज़ार पर ३३ फीसदी का कब्ज़ा है | अगर यही रफ़्तार रही तो जल्द ही इसका प्रतिशत ५० तक पहुँच जायेगा |

Advertisements

3 विचार “दबदबा देसी मोबईल कम्पनियों का&rdquo पर;

  1. in our country these foreign companies are making their network as east india company had done. prevent them because now we have no m.k.gandhi.government should do something serious action.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s